Wednesday, 27 April 2016

आपकी दोस्ती ने बहुत कुछ सिखला दिया,
 मेरी खामोश दुनिया को जैसे हँसा दिया
 कर्ज़दार हूँ मैं खुदा की ,
 जिसने मुझे आप जैसे दोस्तों से मिला दिया |

Sunday, 24 April 2016

“हंसी ने लबों पर थ्रिकराना छोड दिया
 ख्‍बाबों ने सपनों में आना छोड दिया
 नहीं आती अब तो हिचकीया भी
 शायद आपने भी याद करना छोड’ दिया ”

Friday, 22 April 2016

दिल की धड़कन और मेरी सदा है वो;
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है वो;
चाहा है उसे चाहत से बड़ कर;
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है वो!

Wednesday, 20 April 2016

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो ख़ुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी ख़ामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जाए!

Friday, 15 April 2016

इजहार-ए-महोब्बत करने के लिए तुमसे,
 मैं कैसे कोई तारीख तय कर इंतजार करू.,
बेइन्तहा महोब्बत है तुमसे,

 ख्वाहिश इतनी ही तुम्हे आखरी साँस तक प्यार करू
खुश्बू की तरह मेरी हर सांस मैं,
प्यार अपना बसने का वादा करो.
रंग जीतने तुम्हारी मोहब्बत के हैं,
मेरे दिल मे सजाने का वादा करो…

Monday, 11 April 2016

हमसे दोस्ती निभाते रहना
हर मोड़ पर आज़माते रहना,
लेकिन दूर कभी मत होना,
चाहे सारी उम्र भर सताते रहना ....

Monday, 4 April 2016

लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता, 
शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता । 

किस्मत वालों को ही मिलती है पनाह किसी के दिल में, 
यूं हर शख़्स को तो जन्नत का पता नहीं मिलता । 

अपने सायें से भी ज़यादा यकीं है मुझे तुम पर, 
अंधेरों में तुम तो मिल जाते हो, साया नहीं मिलता । 

इस ज़िन्दगी से शायद मुझे इतनी मोहब्बत ना होती 
अगर इस ज़िंदगी में दोस्त कोई तुम जैसा नहीं मिलता ।।

Friday, 1 April 2016

लोग रूप देखते है ,हम दिल देखते है ,
लोग सपने देखते है हम हक़ीकत देखते है,

लोग दुनिया मे दोस्त देखते है,
हम दोस्तो मे दुनिया देखते है.